KAUSHAL PANDEY (Astrologer)

Astrology,

45 Posts

182 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 2748 postid : 138

महाप्रलय 21-12-12 जानिए ज्योतिष के माध्यम से :- कौशल पाण्डेय

Posted On: 14 Dec, 2012 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

महाप्रलय 21-12-12 जानिए ज्योतिष के माध्यम से :- कौशल पाण्डेय

क्या 21-12-2012 को दुनिया समाप्त हो जायेगी ?
जैसा की सुनने में आ रहा है 21-12-12 को महा प्रलय आ जाएगा…….?
दुनिया तबाह हो जाएगी ……..?
मेरा जहाँ तक अनुभव है 21-12-12- को दिन शुक्रवार , उत्तरा भाद्रपद और प्रातः 9:48 के बाद रेवती नक्षत्र आएगा , इस दिन दो पापी ग्रह शनि और मंगल अपनी उच्चा राशी तुला और मकर में रहेगे , सूर्य धनु राशि में, गुरु-केतु वृषभ राशी में में ,बुध, शुक्र ,राहु वृश्चिक राशी में और चन्द्र मीन राशी में होगा। शनि, सूर्य मंगल का पूर्ण दृष्टी से आपस में देखना इस बात को दर्शाता है की आने वाले कुछ समय में प्राकृतिक आपदाएं आ सकती हैं, आतंकी घटनाये, गोलाबारी , आग और पानी से दुर्घटना हो सकती है लेकिन महाप्रलय जैसा कुछ नहीं होगा।

आखिर क्यों और किस दृष्टी से ऐसी बाते सामने आ रही है जाने कुछ चर्चित बाते जैसे ..>>
1:- माया कैलेण्डर के अनुसार दुनिया की तबाही .माया सभ्यता का कैलेंडर 21-12-12 को खत्म हो रहा है। यानी इसी दिन पृथ्वी का खात्मा तय है। सूर्य की अचानक बढ़ी लपटें धरती को जला डालेंगी।
2:- नास्त्रेदम (1503-1566) की भविष्यवाणी नास्त्रेदमस ने अपनी मशहूर किताब ‘द प्रोफेसीज’ में 2012 में घटने वाली घटनाओं के भविष्यवाणी पहले ही कर दी थी। इसके मुताबिक, धनु राशि का तीर एक स्याह हलचल की ओर इशारा कर रहा है, विनाश की शुरुआत से पहले तीन ग्रहण पड़ेंगे और तब सूरज और धरती पर तीव्र भूकंप आएंगे।कुंभ राशि के युग की शुरुआत में आसमान से एक बड़ी आफत धरती पर आ टूटेगी। धरती का ज्यादातर हिस्सा प्रलयंकारी बाढ़ की चपेट में आ जाएगा। जान और माल की भारी क्षति होगी। हैरानी की बात ये है नास्त्रेदमस ने कुंभ राशि के जिस युग की शुरुआत की बात की है वो वक्त है 21 दिसंबर 2012 के बाद का।
3:- नासा की चेतावनी के अनुसार 2012 में महाप्रलय आएगा
4- कुछ वैज्ञानिक आइन्सटाइन की पोलर शिफ्ट थ्यूरी को आधार बना रहे हैं जिसके अनुसार प्रत्येक 7.50 लाख वर्ष के अंतराल पर दोनों ध्रुव अपना स्थान परिवर्तित करते हैं। इस तरह चुम्बकीय क्षेत्र परिवर्तित हो जाता है और वे यह अनुमान लगाते हैं कि दिसम्बर 2012 में यह घटना घटित होगी
5:-ईसाई धर्म :बाइबिल के जानकारों का माननाहै कि प्रभु यीशु का पुन: अवतरण होने वाला है, लेकिन इसके पहले दुनिया का खतम होना तयहै और वह दिन बहुत ही निकट है। बस कुछ लोग ही बच जाएंगे। इस दिन प्रभु न्याय करेगा। कुछ ईसाईजानकारों के अनुसार प्रलय 2012 के आसपास ही कही गई है। बाइबिल का वर्षों तक अध्ययन करने के बाद हेराल्ड कैंपिन ने कहा है कि प्रलय कादिन 21 दिसंबर 2012 ही है।
6:-इस्लाम :इस्लाम में भी प्रलय का दिन माना जाता है, जिसे कयामत कहा गया है। इसकेअनुसार अल्लाह एक दिन संसार को समाप्त कर देगा। यह दिन कब आएगा यह केवल अल्लाह ही जानता है।
निष्कर्ष :-
पुराणों में कलियुग की अवधि 1200 दिव्य वर्ष बतायी गयी है अर्थात एक कलियुग चार लाख 32 हजार सौर वर्ष का होता है। अभी 28वें कलियुग का मात्र 5 हजार 1 सौ 13 वर्ष पूरा हुआ है। इस तरह वर्तमान कलियुग को समाप्त होने में ही अभी लाखों वर्ष है। इसलिए पुराणों की मानें तो 21 दिसम्बर को दुनिया खत्म होने की बात को अफवाह के सिवा और कुछ नहीं माना जाना चाहिए। चिंतित होने की बजाए संसार को नए दिन के स्वागत की तैयारी करनी चाहिए।
ज्योतिष के माध्यम से भी कह सकते है कि 2012 में महाप्रलय की कोई संभावना नहीं है।
जियो और जीने दो .. जय श्री राम

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran